Facts About WAKE UP WITH DETERMINATION & FOCUS Revealed


पी. की महानता सुनायेंगे। फॉरेन तो अब भी फौरन करने वाले हैं। सोचा और किया। यू.पी. की महानता की माला भी वर्णन करेंगे। अभी तैयार करना फिर दूसरे दिन माला पहनायेंगे।

Spinoza also rejects teleology, and implies the causal character along with an originary orientation in the universe is almost everything we experience.

five. The views of the pure and charitable soul are just like a spiritual magnet that may entice other souls to spirituality.

लेकिन अब प्रैक्टिकल में क्यों नहीं होता? अधिकार है, आलमाइटी सत्ता भी है फिर उसको यूज क्यों नहीं कर पाते? कारण क्या है? यह श्रेष्ठ सेवा अब तक शुरू क्यों नहीं हुई है? संकल्प शक्ति का मिस यूज नहीं करो, यूज करो सारी हिस्ट्री में कोई ने अगर अपनी सत्ता को यथार्थ यूज नहीं किया है तो जरूर मिसयूज किया है। राजाओं ने राजाई गँवाई, नेताओं ने अपनी कुर्सा गँवाई, डिक्टेटर्स अपनी सत्ता खो बैठे - कारण? अपने निजी कार्य को छोड़ ऐश-आराम में व्यस्त हो जाते हैं। कोई-न-कोई बात की तरफ स्वयं अधीन होते हैं, इसलिए अधिकार छूट जाता है। वशीभूत होते हैं, इसलिए अपना अधिकार मिसयू॰ज कर लेते। ऐसे बाप द्वारा आप पुण्य आत्माओं को जो हर सेकेण्ड और हर संकल्प में सत्ता मिली हुई है, अथॉरिटी मिली हुई है, सर्व अधिकार मिले हुए हैं उसको यथार्थ रीति से सत्ता की वैल्यू को जानते हुए उसी प्रमाण यूज नहीं करते। छोटी-छोटी बातों में अपने अलबेलेपन के ऐश-आराम में या व्यर्थ सोचने और बोलने में मिस यूज करने से जमा हुई पुण्य की पूंजी व प्राप्त हुई ईश्वरीय सत्ता को जैसे यूज करना चाहिए वैसे नहीं कर पाते। नहीं तो आपका एक संकल्प ही बहुत शक्तिशाली है। श्रेष्ठ ब्राह्मणों का संकल्प आत्मा के तकदीर की लकीर खींचने वाला साधन है। आपका एक संकल्प एक स्विच है जिसको ऑन कर सेकेण्ड में अन्धकार मिटा सकते हो।

Picture: Getty At any time ponder why your check This Out solve to hit the gymnasium weakens Once you’ve slogged by way of a soul-sapping working day at function? It’s since willpower isn’t just a few storybook principle; it’s a measurable kind of mental Vitality that operates out as you use it, much like the gas in your car.

புண்ணிய ஆத்மாக்கள் உங்களுடைய எண்ணம் மூலமாக நம்பிக்கை இழந்தவர்களையும் நம்பிக்கை வைத்திருப்பவராக ஆக்க முடியாதா என்ன?

हूँ ....मैं आत्मा परमधाम शान्तिधाम शिवालय में हूँ ..... शिवबाबा के साथ

७.पुण्य आत्माको संकल्प अति शीतल स्वरुप हुन्छ, जसले विकारहरुको आगोमा जलेका आत्मालाई शीतल बनाउँछ।

All through heritage, Each time anyone was unable to make right usage of his authority, the main reason was that he experienced misused his authority. What was The main reason why kings lost their kingdoms, politicians missing their seats and dictators lost their authority? They stopped performing their real operate and started to indulge them selves in their unique pleasures and comforts. They began to depend upon one thing or One more themselves and thereby lost their legal rights. Because they turned motivated, they misused their rights.  In the same way, all of you charitable souls have received authority from the Father at just about every next As well as in every imagined.

On the list of key reasons resolutions - or other efforts at transform - fall short is simply because men and women frequently try and use willpower and willpower is weak.

gewillig عن رِضا، عن طيب خاطِر склонно disposto ochotně bereitwillig villigt πρόθυμαde buena gana abivalmilt با موافقت halukkaasti de bon cœur ברצון खुशी से voljno szívesen, készségesen dengan ikhlas fileúslega volentieri 喜んで 기꺼이 noriai labprāt dengan rela vrijwilligvilligchętnie, z chęcią په خوښه، په رضا de boa vontade de bunăvoie охотно ochotne rade volje voljno villigt อย่างเต็มใจ isteyerek, seve seve 樂意地 охоче رضامندی سے một cách sẵn sàng 乐意地

ऐसे हर सेकेण्ड पुण्य की पूंजी जमा करो। हर सेकेण्ड हर संकल्प की वैल्यू को जान, संकल्प और सेकेण्ड को यूज करो। जो कार्य आज के अनेक पदमपति नहीं कर सकते वह आपका एक संकल्प आत्मा को पदमापदमपति बना सकता है। तो आपके संकल्प की शक्ति कितनी श्रेष्ठ है। चाहे जमा करो और कराओ, चाहे व्यर्थ गँवाओ, यह आपके ऊपर है। गँवाने वाले को पश्चाताप करना पड़ेगा। जमा करने वाले सर्व प्राप्तियों के झूले में झूलेंगे। कभी सुख के झूले में, कभी शान्ति के झूले में, कभी आनन्द के झूले में। और गँवाने वाले झूले में झूलने वालों को देख अपनी झोली को देखते रहेंगे। आप सब तो झूलने वाले हो ना।

... अक्तूबर  पहले सारे  अवगुण और पुराने संस्कार जला देना ...हररोज़ एक लेंगे और जला देंगे...

9. Just as the magic mantra will make the unattainable possible, so also the views of the pure and charitable soul have this sort of Exclusive power that they might make difficult matters turn out to be achievable.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *